ऑस्ट्रेलिया ग्रुप का सदस्य बना भारत, india, indian, news, pranjal, pranjal india, pranjal, pranjalindia.xyz, ALL INDIAN PRESIDENT, All Prime Minister of India, Article, Bitcoin, Business, India Travel Guide, News, Software, Uncategorized, Yojana, dharm,

ऑस्ट्रेलिया ग्रुप का सदस्य बना भारत

ऑस्ट्रेलिया ग्रुप का सदस्य बना भारत
ऑस्ट्रेलिया ग्रुप का सदस्य बना भारत

भारत ऑस्ट्रेलिया ग्रुप का मेंबर बन गया यह ग्रुप केमिकल और बायलॉजिकल एजेंट्स के निर्यात पर अपने नियंत्रण के जरिए सुनिश्चित करता है कि इससे रासायनिक या जैविक हथियार न बने। इस उपलब्धि से अप्रसार में भारत की दुनिया में हैसियत बढ़ेगी। इसके साथ न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (NSG) में सदस्यता के लिए भी भारत की दावेदारी मजबूत बनेगी, जिसमें चीन अड़ंगा लगाता रहा है।

 

ऑस्ट्रेलिया ग्रुप एक अनौपचारिक संगठन है, जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश पहले से हैं। अमेरिका और फ्रांस काफी पहले से भारत को इस ग्रुप का मेंबर बनाने की वकालत कर रहे थे। सैन्य इस्तेमाल की संभावना वाले आइटम्स में भारत से सबसे ज्यादा निर्यात होने वाला आइटम केमिकल है, लेकिन यहां इस पर नजर रखने की भी तगड़ी व्यवस्था है। अब ग्रुप में एंट्री मिलने से भारत को केमिकल और बायलॉजिकल एजेंट्स के वैश्विक कारोबार में दखल का मौका मिलेगा। भारत में फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंडर जेगलर ने शुक्रवार को भारत को बधाई देते हुए इसे भारतीय डिप्लोमैसी की उपलब्धि बताया है।

 

पिछले साल दिसंबर में भारत वासेनार अरेंजमेंट का मेंबर बना था। इस अरेंजमेंट का मकसद पारंपरिक हथियारों के साथ उन वस्तुओं और तकनीकों के प्रसार में पारदर्शिता और जिम्मेदारी लाना है, जिनका सैन्य इस्तेमाल हो सकता है। 2016 के जून में भारत मिसाइल टेक्नॉलजी कंट्रोल रिजीम (MTCR) का मेंबर बना था जो मिसाइल, यूएवी और संबंधित तकनीक के प्रसार पर नजर रखता है। इसका मेंबर बनने से भारत को उच्च मिसाइल तकनीक हासिल करने का रास्ता साफ हुआ था।


 

Leave a Reply

Your email address will not be published.