प्रधानमंत्री का विदेश जाना गलत है !

प्रधानमंत्री का विदेश जाना गलत है !

 

जी हां ! आज का हमारा यही सवाल है क्यों कि आपने बहोत से लोगो को या सोसल मीडिया पे

आपने ये जरुर सुना होगा, क्यों कि लोगो के पास अब विरोध करने को लगता है कोई मुद्दा

नहीं बचा है | वैसे भी इन लोगो को ये पता होता कि प्रधानमंत्री का क्या काम होता है तो शायद

ये लोग कभी नहीं पूछते  क्योकि दुनिया के देशो से भी हमारे रिश्ते अछे होने चाहिए लेकिन

कुछ पेड मीडिया को कौन समझाए कि चीन के साथ जो हुआ वो भारत कि दुनिया में मजबूत

स्थिति के कारण ही हुई है | यदि पूरी दुनिया में आज देश का नाम बढ़ा है तो वो इसलिए नहीं

कि अपने ही देश में रहने कि वजह से बल्कि पूरी दुनिया में सभी देशो से अछे संबंध बनाने से

और ये तभी हो सकता है जब आप उन देशो से मिलेंगे | देश के मुद्दों पर ही तो काम करना

प्रधानमंत्री का काम है लेकिन कुछ लोग सोचते है कि राज्य सरकारों के कामो में भी वो

हस्तछेप करे जो कि गलत है | फिर यही मीडिया उनके हस्तछेप के लिए चिल्लाएगा और

लोकतंत्र को खतरे मे बताएँगे | जो कि अलत है | प्रदेश को चलाना राज्य सरकारों का काम है

यदि उनसे नहीं हो सकता तो वो कुछ मदत कर सकते है लेकिन इन लोगो को कौन बताये कि

राज्य और केंद्र का काम अलग अलग होता है | और किसी देश से मिलने से दुनिया कि अन्य

टेक्नोलोगी का पता चलता है और देश में भी वो सब आता है | मोबाइल से मुंडी बाहर निकाले

तब तो जाने कि इसका फायदा क्या होता है | कुछ पार्टिया सत्ता में रहने के बाद भी ये सवाल

पूछती है, कि क्यों जाये, लगता है उन्हें ये पता ही नहीं है कि कोई देश का प्रधानमंत्री विदेश

क्यों जाता है | शायद इसीलिए देश का विकास उतना तेजी से नहीं हुआ जितना तेजी से होना

चाहिए था | यदि वो अपना विकास नहीं देश का विकास सोचे होते तो सायद आज हमारा देश

भी सुपर पॉवर देशो में से एक होता और गरीबो और अमीरों के बीच में इतनी बड़ी खाई नहीं

होती | यदि हमारे नेता अलग –अलग चश्मो कि जगह एक चश्मे से  देखे तो देश को तोड्ने

की जगह देश को जोड़ने का काम और विकास तेजी से हो सके |

 


 

One thought on “प्रधानमंत्री का विदेश जाना गलत है !”

  1. कांग्रेस तो चिल्लाएगी ही क्योकि खुद तो कुछ किया नहीं और देश बर्बाद कर के रख दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.