प्रधानमंत्री वारा वंदना योजना

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana (प्रधानमंत्री वारा वंदना योजना)

प्रधानमंत्री वारा वंदना योजना
प्रधानमंत्री वारा वंदना योजना

 

भारत सरकार ने 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के नागरिकों के लिए प्रधानमंत्री वैधान वानदान योजना की घोषणा की है। इस योजना को संचालित करने के लिए भारत के एलआईसी को एकमात्र विशेषाधिकार दिया गया है। प्रधानमंत्री वाया वंदना योजना को 4 मई 2017 को शुरू किया गया था। योजना शुरू होने की तारीख से एक वर्ष के लिए उपलब्ध होगी।

 

यह योजना ऑफ़लाइन और साथ ही ऑनलाइन खरीदी जा सकती है। इस योजना को ऑनलाइन खरीदने के लिए कृपया हमारी वेबसाइट www.licindia.in पर लॉग ऑन करें।

लाभ:

पेंशन भुगतान:

10 साल की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनभोगी के अस्तित्व पर, बकाया में पेंशन (चुने गए मोड के अनुसार प्रत्येक अवधि के अंत में) देय होगा।

मृत्यु का लाभ:

10 साल की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनभोगी की मृत्यु पर, खरीद मूल्य को लाभार्थी को वापस कर दिया जाएगा।

परिपक्वता लाभ:

पेंशनभोगी के 10 साल की पॉलिसी अवधि के अंत तक, अंतिम पेंशन किस्त के साथ खरीद मूल्य देय होगा।

Eligibility Conditions and Other Restrictions (पात्रता स्थितियां और अन्य प्रतिबंध)

न्यूनतम प्रवेश आयु: 60 वर्ष (पूर्ण)

अधिकतम प्रवेश आयु: कोई सीमा नहीं

पॉलिसी अवधि: 10 वर्ष

न्यूनतम पेंशन:

रु 1,000 / – प्रति माह

रु 3,000 / – प्रति तिमाही

रु .6,000 / – प्रति आधा साल

 

अधिकतम पेंशन:

रु 5,000 / – प्रति माह

रु प्रति तिमाही 15,000 / –

रु 30,000 / – प्रति आधा साल

रु 60,000 / – प्रति वर्ष

 

अधिकतम पेंशन की सीमा पूरी तरह से परिवार के लिए है, अर्थात इस योजना के तहत परिवार को अनुमति दी गई सभी नीतियों के तहत पेंशन की कुल राशि अधिकतम पेंशन सीमा से अधिक नहीं होगी। इस प्रयोजन के लिए परिवार में पेंशनभोगी, उसके पति / पत्नी और आश्रितों का समावेश होगा।

 

खरीद मूल्य का भुगतान

इस योजना को एकमुश्त खरीद मूल्य के भुगतान के द्वारा खरीदा जा सकता है। पेंशनभोगी को या तो पेंशन की राशि या खरीद मूल्य चुनने का विकल्प होता है

पेंशन के विभिन्न तरीकों के तहत न्यूनतम और अधिकतम खरीद मूल्य निम्नानुसार होगा:

पेंशन का तरीका न्यूनतम खरीद मूल्य अधिकतम खरीद मूल्य
सालाना  

Rs. 1,44,578/-

 

 

Rs. 7,22,892/-

अर्धवार्षिक Rs. 1,47,601/-

 

Rs. 7,38,007/-

 

त्रैमासिक Rs. 1,49,068/-

 

 

Rs. 7,45,342/-

 

महीने के  

Rs. 1,50,000/-

 

 

Rs. 7,50,000/-

 

पेंशन भुगतान का तरीका

पेंशन भुगतान के तरीके मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक हैं पेंशन भुगतान एनईएफटी या आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के माध्यम से किया जाएगा।

 

पेंशन की पहली किश्त को क्रमशः पेंशन भुगतान की स्थिति के आधार पर एक वर्ष, 6 महीने, 3 महीने या 1 महीने के बाद भुगतान किया जाएगा, अर्थात् वार्षिक, अर्ध-वार्षिक, तिमाही या मासिक।

 

समर्पण मूल्य

यह योजना असाधारण परिस्थितियों में पॉलिसी की अवधि के दौरान समयपूर्व से बाहर निकलने की अनुमति देता है जैसे पेंशनर को किसी भी महत्वपूर्ण / टर्मिनल बीमारी के स्व या पति या पत्नी के इलाज के लिए पैसे की आवश्यकता होती है। ऐसे मामलों में देय समर्पण मूल्य खरीद मूल्य का 98% होगा।

 

ऋण (Loan)

3 पॉलिसी साल पूरा होने के बाद ऋण सुविधा उपलब्ध है। अधिकतम ऋण जो कि दिया जा सकता है खरीद मूल्य का 75% होगा।

ऋण की राशि के हिसाब से ब्याज की दर का निर्धारण आवधिक अंतराल पर किया जाएगा। वित्तीय वर्ष 2016-17 में स्वीकृत ऋण के लिए, लागू ब्याज दर 10% पीए है ऋण की संपूर्ण अवधि के लिए अर्ध-वार्षिक देय

 

पॉलिसी के तहत देय पेंशन राशि से ऋण ब्याज वसूल किया जाएगा। पॉलिसी के तहत पेंशन भुगतान की आवृत्ति के अनुसार ऋण ब्याज अर्जित होगा और यह पेंशन की नियत तारीख के कारण होगा। हालांकि, बकाया ऋण बाहर निकलने के समय दावे की आय से वसूल किया जाएगा।

 

टैक्स (Taxes)

भारत सरकार या भारत के किसी भी अन्य संवैधानिक कर प्राधिकरण द्वारा इस योजना पर लगाए गए वैधानिक कर, यदि कोई हो, तो कर कानूनों के अनुसार और समय-समय पर लागू टैक्स की दर के अनुसार होगा।

 

योजना के तहत देय लाभों की गणना के लिए कर भुगतान की राशि पर विचार नहीं किया जाएगा।


 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.